Water level of rivers of North Bihar rising continuously due to rain in Nepal, monitoring of embankments, Water Resources Department alerts engineers | नेपाल में बारिश से उत्तर बिहार की नदियों का लगातार बढ़ रहा जलस्तर, तटबंधों की निगरानी, जल संसाधन विभाग ने इंजीनियरों को किया अलर्ट

0
0

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Water Level Of Rivers Of North Bihar Rising Continuously Due To Rain In Nepal, Monitoring Of Embankments, Water Resources Department Alerts Engineers

पटना38 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जयनगर में कमला नदी के पूर्वी तटबंध पिपराघाट के पास का दृश्य। यहां कटावस्थल पर मिट्टी भराई कार्य चल रहा है।

गंगा बेसिन वाले राज्यों के साथ-साथ नेपाल के तराई वाले इलाकों में अगले दो दिनों तक भारी बारिश की संभावना के बीच जल संसाधन विभाग ने अपने इंजीनियरों को फिर से अलर्ट कर दिया है। भारतीय मौसम विभाग ने राजस्थान, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी दी है। उधर, नेपाल में लगातार बारिश होने से कई नदियों में उफान है। बूढ़ी गंडक, कोसी, बागमती, अधवारा, भूतही बलान, महानंदा का जलस्तर अधिसंख्य स्थानों पर बढ़ रहा है। यही नहीं अगले 48 से 72 घंटे के बीच बिहार में भी सामान्य से भारी बारिश का पूर्वानुमान है।

इसके बाद गंगा नदी के जलस्तर में तेज वृद्धि होनी तय मानी जा रही है। इन्हीं राज्यों में बीते दिनों हुई भारी बारिश के पानी से गंगा में उफान आया था। भारतीय मौसम विभाग की चेतावनी के बाद इंजीनियरों को संभावित खतरों के लिए भी तैयार कर दिया गया है। तटबंधों की निगरानी की जा रही है। हालांकि इस समय गंगा नदी फरक्का को छोड़कर पूरे बिहार में तेजी से नीचे उतर रही है।

सूबे की एक दर्जन नदियां अभी भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। गंगा पटना के गांधीघाट, मुंगेर, भागलपुर, कहलगांव, कटिहार में, बागमती मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, दरभंगा व खगड़िया में, बूढ़ी गंडक समस्तीपुर, खगड़िया व मुजफ्फरपुर में, गंडक लालगंज में, कमला बलान मधुबनी में, अधवारा सीतामढ़ी में, खिरोई दरभंगा व सीतामढ़ी में, महानंदा किशनगंज, कटिहार व पूर्णिया में, घाघरा सीवान व सारण में, कोसी सुपौल, खगड़िया व कटिहार में, परमान पूर्णिया व अररिया में, बलान बेगूसराय में, भूतही नालंदा में लाल निशान से ऊपर है।

बाढ़ से क्षति का जायजा लेने के लिए केंद्रीय टीम भेजने का राज्य ने किया अनुरोध

बिहार के 16 जिले की 37 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित है। जान-माल के साथ ही खेती का बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। यह देखते हुए बाढ़ से हुई क्षति का आकलन करने के लिए राज्य सरकार ने केंद्र से टीम भेजने का अनुरोध किया है। इस संबंध में आपदा प्रबंधन विभाग के आला अधिकारी ने संबंधित केन्द्र के अधिकारी से बात भी की है। उम्मीद जतायी जा रही है कि शीघ्र ही केन्द्र की टीम बिहार आकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेगी और बाढ़ से से हुई क्षति का आकलन करेगी। वहीं राज्य सरकार के कई विभागों ने अपने स्तर से क्षति का आकलन करना शुरू भी कर दिया है।

खबरें और भी हैं…

.



Source link