virat kohli 13 years in international cricket: virat kohli completes 13 years in international cricket; watch virat kohli stats and records; Virat Kohli Stats And Records: शतक के सूखे के बीच कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 14 वें साल में प्रवेश किया, आंकड़ों में देखें करियर

0
0


नई दिल्ली
भारतीय क्रिकेट टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 13 साल पूरे हो गए हैं और अब वह 14 वें साल में प्रवेश कर गए हैं। इन 13 वर्षों के दौरान, 32 वर्षीय कोहली दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक और आगे आकर नेतृत्व करने वाले कप्तान बन गए हैं। इस हफ्ते इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में दूसरे टेस्ट में जीत ने साबित कर दिया कि कोहली, जिनकी कप्तानी हाल ही में सवालों के घेरे में थी, फिलहाल अपने नेतृत्व की स्थिति में सुरक्षित हैं।

अब उनके सामने एक बड़ी चुनौती है। काफी समय से कोहली ने शतक नहीं लगाया है। तेंडुलकर के नाम 49 एकदिवसीय शतक हैं, जबकि कोहली के नाम प्रारूप में 43 शतक हैं। 2019 में कोहली ने पांच शतक लगाया था और 2020 की शुरुआत में ऐसा लग रहा था कि वह एक साल के भीतर तेंडुलकर के रेकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। उन्होंने साल की शुरुआत दो अर्धशतकों से की। उन्होंने अगले डेढ़ साल में पांच और अर्धशतक बनाए, लेकिन एक भी शतक नहीं बना सके।

Virat Kohli vs Sachin Tendulkar: 13 साल बाद कोहली के ज्यादा शतक, सचिन रन और औसत में भी पीछे

जनवरी 2020 के बाद से, वह 12 एकदिवसीय, 15 टी20 और 10 टेस्ट खेल चुके हैं लेकिन इनमें एक भी शतक दर्ज नहीं है आखिरी बार उन्होंने नवंबर 2019 में कोलकाता में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट शतक लगाया था। कोहली के 254 वनडे मैचों में 12,169 रन हैं और वह तेंडुलकर (18,246), कुमार संगकारा (14,234), रिकी पॉन्टिंग (13,704), सनथ जयसूर्या (13,430) और महेला जयवर्धने (12,650) के बाद शीर्ष रन बनाने वालों की सूची में छठे स्थान पर हैं।

कोहली ग्लोबल सुपरस्टार… पीटरसन की ये बात सुनकर अंग्रेज भी हक्के-बक्के रह जाएंगे

कोहली, जिन्होंने 2008 में श्रीलंका के खिलाफ दांबुला में वनडे मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था, के भी 94 टेस्ट में 27 शतकों के साथ 7,609 रन हैं और इस लिहाज से सबसे अधिक रन बनाने वालों की सूची में वह 36वें स्थान पर हैं। हालांकि यह संभावना नहीं है कि वह तेंडुलकर के 15,921 रन और 51 टेस्ट शतक के रेकॉर्ड को पार कर जाएंगे लेकिन वह सचिन के वनडे शतकों के आंकड़े को जरूर पार कर सकते हैं। हालांकि यह सब उनकी फिटनेस और रनों की भूख और बड़े स्कोर पर निर्भर करता है।

कभी करियर खत्म होने का था डर, साल 2020 के बाद भारत के सबसे बड़े बल्लेबाज बने ऋषभ पंत

.



Source link