Now enjoy the walk in the company garden, company garden opened from today, the number of sighted less on the first day | मॉनिंग वाकर्स एसोसिएशन ने डीएम से की थी मांग, पहले दिन कम दिखी भीड़

0
3


प्रयागराज2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
कंपनी बाग़ को खोलने का समय सुबह सात बजे से छह बजे करने की मांग की गई है। - Dainik Bhaskar

कंपनी बाग़ को खोलने का समय सुबह सात बजे से छह बजे करने की मांग की गई है।

कोरोना की दूसरी लहर में बढ़ते संक्रमण की वजह से बंद हुआ चंद्रशेखर आजाद पार्क (कंपनी बाग) सोमवार की सुबह सात बजे से खोल दिया गया। खुलने का समय अभी सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक रखा गया है। प्रशासन के इस निर्णय से सुबह और शाम के वक्त आजाद पार्क में टहलने वालों में खुशी की लहर है।

अभी सप्ताह में पांच दिन ही खुलेगा
जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री और उद्यान अधीक्षक डॉ. सीमा सिंह राणा की इस संबंध में हुई वार्ता के क्रम में कंपनी गार्डेन सोमवार से खोलने का निर्णय लिया गया था।
डॉ. सीमा सिंह राणा ने बताया कि शनिवार और रविवार को कंपनी गार्डेन को बंद रखा गया है। अभी सप्ताह में केवल पांच दिन ही कंपनी गार्डेन खुलेगा। कोरोना के कारण प्रयागराज में 30 अप्रैल से ही आजाद पार्क को बंद कर दिया गया था। एक जून को कर्फ्यू खत्म हो जाने के बाद भी कंपनी गार्डेन नहीं खोला गया।

मार्निंग वाकर्स खोलने की कर रहे थे मांग
मॉनिंग वाकर्स एसोसिएशन ने भी जिलाधिकारी से आजाद पार्क को खोले जाने की मांग की थी। मॉर्निंग वॉकर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष किशोर वाष्र्णेय ने जिलाधिकारी के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह नेक पहल है। इससे लोग अपने आपको फिट रख पाएंगे। हालांकि उन्होंने अधीक्षिका से कंपनी गार्डेन को खोलने का समय सुबह सात बजे से छह बजे करने की मांग की है।

पार्क में हर साल खर्च होते हैं एक करोड़
आनलॉक में पार्क सुबह-शाम के लिए ही खोला गया है। दो महीने से पार्क बंद था। ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति पर पांच रुपये के टिकट से होने वाली कमाई भी बंद थी और खर्च जारी था। अधीक्षक डॉ.सीमा राणा ने बताया कि वहले दिन टिकटों की बिक्री से ढाई हजार रुपये ही आए। यदि यही हालात रहे तो एक वर्ष में टिकट से करीब नौ लाख रुपये की ही आमदनी हो पाएगी, जबकि पार्क के रखरखाव पर एक करोड़ रुपये सालाना खर्च होते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link