jharkhand news: Jharkhand News- new angle came in the dhanbad judge uttam anand death case biker was seen just before the collision of the auto : ऑटो की टक्कर से ठीक पहले बाइकवाले की वह कातिल नजर, झारखंड में जज की हत्या में आ गया नया ऐंगल

0
0


हाइलाइट्स

  • जज उत्तम आनंद की संदिग्ध मौत में सीसीटीवी ने दिया एक नया मोड
  • ऑटो के टक्कर मारने से पहले और टक्कर के बाद दिखा एक ही बाइकवाला
  • अब शक की सुई बाइकवाले पर घूमी
  • कोर्ट ने गुरुवार को पूछा था- क्या पुलिस इस बाइक वाले को मौका देना चाहती है

रांची
धनबाद के जज उत्तम आनंद की संदिग्ध मौत मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है, गिरफ्तार आरोपियों में जज साहब को टक्कर मारने वाला ऑटो ड्राइवर और उसका सहयोगी शामिल है। दोनों की गिरफ्तारी झारखंड के गिरिडीह से हुई है। जज उत्तम आनंद की संदिग्ध मौत में जो सीसीटीवी सामने आया है, उसने हत्याकांड में एक नया मोड दे दिया है। ऑटो की टक्कर से पहले एक बाइकवाला दिखाई दिया है। अब शक की सुई उस बाइकवाले पर घूम रही है।

जज उत्तम आनंद की संदिग्ध मौत मामले में सामने आए सीसीटीवी फुटेज से एक बाइकवाले पर शक गहरा गया है। ऑटो की टक्कर से पहले वीडियो में दिखाई देता है कि जज साहब सड़क किनारे मॉर्निंग वॉक कर रहे हैं। वहीं सड़क के दूसरी ओर एक बाइकवाला आता दिखाई देता है, सीसीटीवी में बाइक वाला जज साहब की ओर गर्दन घुमाकर देखता है। उसके थोड़ी देर बाद पीछे से ऑटो आता है और लाइन बदल कर मॉर्निंग वॉक कर रहे जज उत्तम आनंद को टक्कर मार देता है।

Dhanbad judge-1

टक्कर लगते ही जज उत्तम आनंद सड़क किनारे गिर जाते हैं और ऑटो वाला फिर सीधी लाइन में तेजी से ऑटो लेकर चला जाता है। सीसीटीवी वीडियो में दिखाई देता है कि फिर वही बाइकवाला आता है जो टक्कर से पहले दूसरी साइड था। वह जमीन पर पड़े जज साहब को देखते हुए आगे बढ़ जाता है।

जज उत्तम आनंद की मौत के केस में लापरवाही बरती तो सीधे CBI को दे देंगे जांच, झारखंड हाईकोर्ट की चेतावनी

झारखंड सरकार को हाईकोर्ट ने लगाई फटकार
झारखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति डॉ रविरंजन ने प्राथमिकी होने में देर होने पर नाराजगी जाहिर की और डीजीपी को जल्द इस मामले में त्वरित कार्रवाई का निर्देश दिया। इस दौरान झारखंड की हेमंत सरकार को कोर्ट ने कड़ी चेतावनी भी दी है।

कोर्ट ने कहा- क्या पुलिस इस बाइक वाले को मौका देना चाहती है
मुख्य न्यायाधीश ने डीजीपी से पूछा कि इतनी अच्छी सीसीटीवी फुटेज होने के बावजूद जांच में इतनी देर क्यों लग रही है। घटना के वक्त एक बाइक सवार गुजरते दिखा है, क्या पुलिस इस बाइक वाले को मौका देना चाहती है। अदालत में फुटेज देखने के दौरान बाइक का नंबर स्पष्ट नहीं होने पर अदालत ने फिर से फुटेज प्ले कराया। अदालत ने डीजीपी से पूछा कि चोट किस-किस तरफ लगी है। अगर दाहिने तरफ लगी है, तो इसका साफ मतलब है कि दाहिने तरफ से प्रहार भी किया गया है। यह प्रोफेशनल का काम है। यह सिर्फ ऑटो से धक्का लगने का मामला नहीं हो सकता है।

कई हाईप्रोफाइल केस की सुनवाई कर रहे थे धनबाद के जज उत्तम सिंह, हाल ही में खारिज की थी बड़े गैंगस्टर के गुर्गों की जमानत याचिका

परिवार ने जताया जज की हत्या का शक
जज उत्तम आनंद की मौत मामले में गुरुवार को जहां सुप्रीम कोर्ट और झारखंड उच्च न्यायालय में निष्पक्ष जांच की बात उठी, वहीं मृतक उत्तम आनंद के परिजनों का कहना है कि यह सिर्फ हादसा नहीं, बल्कि सुनियोजित तरीके से की गई हत्या है। परिजनों ने पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

यह एक सुनियोजित हत्या: मृतक जज का भाई
जज साहब के छोटे भाई सुमन आनंद ने कहा कि “मीडिया में जो सीसीटीवी फुटेज चल रहा है, उससे यह स्पष्ट होता है कि यह एक सुनियोजित हत्या है। इसकी जांच होनी चाहिए। इस पूरे मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए, क्योंकि वह किसी बड़े अपराधी के मामले में सुनवाई कर रहे थे। इसलिए इस बात की पूरी संभावना है कि इस कांड को अपराधियों ने साजिश कर अंजाम तक पहुंचाया है।”

Dhanbad judge

मॉर्निंग वॉक करते जज साहब और दूसरी ओर से देखता बाइकवाला

.



Source link