jharkhand news: Annapurna Devi Reached Jharkhand For The First Time After Becoming Union Minister : केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार झारखंड पहुंची अन्नपूर्णा देवी, बोलीं- OBC समाज के हित के लिए मोदी सरकार ने उठाए कदम

0
1


रवि सिन्हा, रांची/कोडरमा
प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर सोमवार को जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत की गई। कोडरमा से यात्रा की शुरुआत के मौके पर पत्रकारों से बातचीत में केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री और कोडरमा की सांसद अन्नपूर्णा देवी ने कहा कि नई शिक्षा नीति के माध्यम से बच्चों को पाठ्य पुस्तकों की जानकारी देने के साथ ही कक्षा-6 से ही व्यावसायिक शिक्षा पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कांग्रेस के विरोध के बावजूद जिस तरह से ओबीसी समाज के हित के लिए कदम उठाया, वह उल्लेखनीय है। अन्नपूर्णा देवी ने कहा कि मॉनसून सत्र के दौरान पूरे देश की जनता ने यह देखा कि किस तरह से प्रतिपक्ष के लोगों का व्यवहार रहा। देश के सर्वोच्च संस्था राज्यसभा में कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों का अमर्यादित व्यवहार किया है। उसी तरह से लोकसभा में भी विपक्षी दलों का व्यवहार किया, जबकि सभी जनप्रतिनिधियों को यह समझना चाहिए कि उनका भी एक दायित्व है, प्रश्न या बहस के माध्यम से वे अपनी बात रख सकते है। लेकिन मॉनसून सत्र में विपक्ष का कोई सहयोग नहीं रहा। इसके बावजूद प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व का यह परिचायक है कि 20 विधेयक इस सत्र में पास हुए। जिसमें एक महत्वपूर्ण विधेयक में ओबीसी आरक्षण के मामले में राज्यों को अधिकार दिया गया और अरुणाचल प्रदेश की कुछ जनजातियों को मान्यता दी गयी।

नीट-मेडिकल परीक्षा में ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण मिला: अन्नपूर्णा देवी
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कांग्रेस के विरोध के बावजूद ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया गया और नीट-मेडिकल परीक्षा में ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण मिला। केंद्रीय राज्यमंत्री ने पदभार ग्रहण करने के बाद पहली बार कोडरमा पहुंचने पर संसदीय क्षेत्र और राज्य की जनता की ओर से प्रधानमंत्री और भाजपा नेतृत्व में प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन पर विश्वास कर जो महत्वपूर्ण जिम्मेवारी सौंपी गयी है, उस भरोसा और उम्मीद पर वह खतरा उतरने तथा अपनी जिम्मेवारी के ईमानदारी पूर्वक निर्वहन का प्रयास करेंगी।

‘नई शिक्षा नीति में कक्षा 6 से ही व्यवसायिक शिक्षा पर जोर’
उन्होंने कहा कि शिक्षा समवर्ती सूची में है, जिसके बावजूद केंद्र सरकार देश के सभी राज्यों को शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग दे रही है। नई शिक्षा नीति के माध्यम से कक्षा 6 से ही व्यवसायिक शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया गया है, ताकि बच्चों को पढ़ाई में मन लग सके और वे अपनी पढ़ाई पूरी कर स्वरोजगार कर सके। उन्होंने कहा कि रोजगारोन्मुख शिक्षा नीति के साथ ही अब तकनीकी शिक्षा की पढ़ाई 11 भाषाओं में हो सकेगी। प्रधानमंत्री ने 29 जुलाई को नई शिक्षा नीति के एक वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में इसकी शुरुआत की है।

‘सबका साथ, सबका विकास के नारे को सार्थक किया’
उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में सर्व समावेशी की नीति के तहत सबका साथ, सबका विकास के नारे को सार्थक किया गया हैं, समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े लोगों तक विकास की किरण पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। केंद्रीय मंत्रिमंडल में 11 महिलाओं के अलावा 27 ओबीसी प्रतिनिधि शामिल हैं, इसके अलावा एसटी को 12 और एससी को 8 प्रतिनिधि मिला है, सभी जाति, धर्म के लोगों के साथ ही महिलाओं, युवाओं को मौका मिला है।

पीएम मोदी ने झारखंड की एक बेटी को मौका दिया: दीपक प्रकाश
इधर, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद दीपक प्रकाश ने सोमवार को रांची में पत्रकारों को बताया कि केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री अन्नपूर्णा देवी के नेतृत्व में कोडरमा से जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत हुई। उन्होंने बताया कि केंद्र में पहली बार मंत्री बनाये जाने पर प्रदेश बीजेपी की ओर से अन्नपूर्णा देवी का राज्यभर में स्वागत करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड की एक बेटी को मौका दिया है और जिस तरह से अन्नपूर्णा देवी ने सफल विधायक और सांसद के बाद मंत्री पद की जिम्मेवारी संभाली है, उससे पूरे राज्य में हर्ष और उत्साह का माहौल है।

केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार झारखंड पहुंची अन्नपूर्णा देवी, बोलीं- OBC समाज के हित के लिए मोदी सरकार ने उठाए कदम

केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार झारखंड पहुंची अन्नपूर्णा देवी, बोलीं- OBC समाज के हित के लिए मोदी सरकार ने उठाए कदम

.



Source link