Debris fell in drains during six lane construction, NHUI did not remove; Now people’s houses were submerged, they got angry and blocked the road. | सिक्स लेन बनाने के दौरान नालों में जा गिरा मलबा, NHUI ने नहीं हटाया; अब लोगों के घर हुए जलमग्न तो आक्रोशित होकर सड़क जाम किया

0
0

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Rohtas
  • Debris Fell In Drains During Six Lane Construction, NHUI Did Not Remove; Now People’s Houses Were Submerged, They Got Angry And Blocked The Road.

रोहतासएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

शिवसागर में ग्रामीणों ने फोरलेन जीटी रोड कर दिया जाम।

रोहतास जिले में एनएचएआई द्वारा फोरलेन को सिक्स लेन में विस्तारित करने कार्य चल रहा है। लेकिन एनएचएआई के द्वारा सिक्स लेन के चौड़ीकरण में तोड़े गए मकानों का मलवा हटाया गया है। जिससे श्विसागर प्रखण्ड मुख्यालय में सर्विस रोड के साथ-साथ नालों में भी मलबा भर गया है। जिससे लोगों के घरो का पानी नहीं निकल रहा है, साथ ही बारिश होने पर घरों में पाने घुस जा रहा है।

इससे परेशान होकर ग्रामीणों ने शुक्रवार दोपहर फोरलेन को जाम कर दिया तथा प्रशासन एवं एनएचएआई के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों का कहना था कि इनकी लापरवाही के चलते उनका घर में रहना मुहाल हो गया है। दो माह से मलबा पड़ा है लेकिन हटाया नहीं जा रहा है। इस संबंध में एनएचएआई के साथ-साथ जिला भू-अर्जन पदाधिकारी एवं शिवसागर सीओ को भी लिखित आवेदन दिया गया है। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। गुरुवार रात भारी बरसात के बाद कई घरों में पानी घुस गया इसलिए आज सड़क पर उतरना पड़ा।

वहीं जाम की सूचना पाकर शिवसागर थाना की पुलिस मौके पर पहुंची। एनएचएआई के अधिकारियों को बुलाया गया। आश्वासन मिलने के बाद ग्रामीण सड़क से हटे। लेकिन लगभग एक घंटे तक सड़क जाम रहने से वाहनों की लंबी कतार फोरलेन पर लग गई।

इधर, थानाध्यक्ष गिरीश कुमार ने बताया कि ग्रामीणों ने जीटी रोड को जाम कर रखा था। लेकिन एनएचएआई के अधिकारी हेमंत कुमार व अंचलाधिकारी जितेन्द्र कुमार राम से बातचीत के बाद सड़क पर से हटे और आवागमन सामान्य हुआ। ग्रामीण मे कमरूद्दीन फारूकी ने कहा कि मूहंरम व रक्षाबंधन त्यौहार आ रहे थे। हम सभी ने अधिकारी से मलवा हटाने के लिए आवेदन किया गया था, लेकिन कोई अधिकारी बात सुनने को तैयार नहीं हो रहा था। अतः त्यौहार के दिन ही रोड जाम करना पड़ा।

खबरें और भी हैं…

.



Source link