युवा पीढ़ी को बर्बाद कर रहे हैं नशीले पदार्थ जल्द ही करोड़ों की सामग्री होगी नष्ट: गृह मंत्री अमित शाह

0
0


केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने कहा कि एक प्रकार से नारकोटिक्स दीमक की तरह हमारे देश की युवा पीढ़ी को खत्म करने का काम कर रहा है। दूसरी तरफ नारकोटिक्स के व्यापार से आया पैसा आतंक के पोषण का काम करता है। अमित शाह के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने गांधीनगर में बुधवार को ड्रग तस्करी और राष्ट्रीय सुरक्षा पर क्षेत्रीय बैठक में हिस्सा लिया। यहां शाह ने कहा कि देश की युवा पीढ़ी को सुरक्षित रखना और आतंक के वित्त पोषण पर एक प्रहार करने की लड़ाई को भारत सरकार और राज्य सरकार की सभी एजेंसियों को साझा लड़ाई के रूप में लेना पड़ेगा और लड़कर जीतना पड़ेगा।

632 करोड़ रुपये के नशीले पदार्थ होंगे नष्ट

सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में 632 करोड़ रुपये मूल्य की कुल 12,439 किलोग्राम नशीले पदार्थों को नष्ट किया जाएगा। दो हफ्ते पहले पूर्वोत्तर राज्यों द्वारा अमित शाह की उपस्थिति में गुवाहाटी में 40000 किलोग्राम मूल्य के ड्रग्स और नशीले पदार्थों को नष्ट कर दिया गया था। एनसीबी ने 75000 किलो जब्त दवाएं नष्ट की गृह मंत्री अमित शाह के मार्गदर्शन में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने भारत की आजादी के 75 वें वर्ष को कम से कम 75,000 किलोग्राम जब्त दवाओं को नष्ट करने के लिए 75 दिनों के लिए एक विशेष मिशन के लिए खुद को स्थापित किया। यह लक्ष्य 60 दिनों के भीतर काफी पहले ही हासिल कर लिया गया था।

चंडीगढ़ में 31000 किलो नशीले पदार्थों को किया गया था नष्ट

अब तक एक लाख किलोग्राम से अधिक नशीला पदार्थ और नशीला पदार्थ नष्ट किया जा चुका है। केंद्रीय गृह मंत्री ने इसी साल 30 जुलाई को चंडीगढ़ में बटन दबा कर 31000 किलोग्राम से अधिक नशीले पदार्थों को नष्ट कर इस मिशन की शुरुआत की थी। इसी तरह कई अन्य जगहों पर भी नशीले पदार्थ नष्ट किए जा चुके हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

 

.



Source link