प्राचीन महावीर मंदिर में धान की खेती से पूर्व विशेष प्रसाद चढ़ाने की परंपरा | people crowed at adra fair in rohtas; bihar bhaskar latest news

0
0

रोहतास37 मिनट पहले

रोहतास जिला मुख्यालय सासाराम के कुराइच स्थित में प्राचीन महाबीर मंदिर में मंगलवार को हजारों श्रद्धालु सुबह से ही पूजा-अर्चना के लिए पहुंच रहे हैं। आज अदरा नक्षत्र का अंतिम मंगलवार है इसलिए सबसे अधिक श्रद्धालु भगवान महाबीर का दर्शन कर विशेष प्रसाद चढ़ाऐंगे। अषाढ़ माह के आद्रा नक्षत्र मेला में सासाराम शहर के अलावे ग्रामीण इलाके से भी श्रद्धालु पहुंचते हैं, और विशेष प्रसाद चढ़ाते हैं।

अच्छी बरसात और फसल के लिए पूजा

धान के कटोरे में असाढ़ महीना का अपना अलग महत्व है। कृषि प्रधान पुराने शहाबाद में खरीफ फसल के रोपनी का यह महीना किसानों के लिए कई दृष्टि में पवित्र माना जाता है। अदरा नक्षत्र के अंत में धान की रोपाई होने लगती हैण् मान्यता है कि समय पर वर्षा और अच्छी फसल के सासाराम के कुराइच महावीर मंदिर में अदरा के मंगलवार और शनिवार को रोट चढ़ाया जाता है।

नवविवाहित युगल लेने आते हैं आर्शीवाद

अदरा नक्षत्र के हर मंगलवार और शनिवार को सासाराम में दूर से आने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। मेले की खासियत है कि मंदिर परिसर में ही नव विवाहिताएं भगवान महावीर को पकवान बनाकर चढ़ाती हैं, और सुखद वैवाहिक जीवन का आशिर्वाद लेती हैं।

खबरें और भी हैं…

.



Source link