पलाश राखी: Jharkhand News : Palash Rakhi of silk thread made by rural women now available for sale on Palash Mart and App:रेशम के धागे से बनी ‘पलाश राखी’ अब पलाश मार्ट और एप पर मौजूद

0
0


रवि सिन्हा, रांची।
भाई-बहन के पवित्र पर्व रक्षाबंधन के अवसर पर ग्रामीण महिलाएं राखी का निर्माण कर रहीं हैं। ग्रामीण महिलाओं द्वारा निर्मित राखी फैन्सी, आकर्षक एवं किफायती दाम में बिक्री के लिए पलाश मार्ट में उपलब्ध है। इस हुनर के जरिए महिलाओं को अतिरिक्त आमदनी भी हो रही है।पहली बार स्वनिर्मित रेशम के धागे से पलाश रेशमी राखी का निर्माण हो रहा है।

महिलाओं द्वारा पलाश रक्षाबंधन किट भी तैयार किया गया है। इस किट में राखी के अलावा रोली, अच्छत,चन्दन, माचिस, काजू, किशमिस, पिस्ता, बादाम इत्यादि भी दिए जा रहे हैं, ताकि ग्राहकों को एक ही किट में सभी सामग्री प्राप्त हो सके। पलाश मार्ट में सखी मंडल की बहनों द्वारा निर्मित फैंसी राखियां बिक्री के लिए उपलब्ध है। सस्ती कीमत पर फैन्सी एवं आकर्षक राखियों की खरीदारी यहां की जा सकती है। भाई-बहन के इस पर्व में ग्रामीण बहनों द्वारा निर्मित राखी की खरीदारी कर लोग उन्हें तोहफा दे रहे है।

जेएसएलपीएस (JSLPS) की सीईओ नैंसी सहाय ने कहा कि राज्य की सखी मंडलों के उत्पादों को पलाश के जरिए एक पहचान मिल रही है और आमदनी भी बढ़ रही है। ग्रामीण महिलाएं पलाश ब्राण्ड अंतर्गत राखी का निर्माण कर रही हैं, जिसकी मांग है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि पलाश के जरिए राज्य की महिलाओं के उत्पादों को राष्ट्रीय स्तर पह पहचान स्थापित करने का प्रयास अवश्य सफल होगा।

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने पलाश मार्ट का किया उदघाटन
जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री और खूंटी के सांसद अर्जुन मुंडा ने शुक्रवार को खरसावां विधानसभा के सरायकेला प्रखंड के रेन्गोडीह में महिलाओं की स्वयं सहायता समूह के पलाश मार्ट का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने दीदियों द्वारा उत्पादित वस्तुओं के बारे में जानकारी ली और उन्हें बचत के टिप्स भी दिए। अर्जुन मुंडा ने कहा कि स्वयं सहायता समूह की संख्या सिर्फ मायने नहीं रखती है बल्कि अधिकारी इस बात पर भी ध्यान दें कि इनका मोटिवेशन हो और कौशल विकास किया जाए। अर्जुन मुंडा ने स्वंय सहायता समूह की दीदियों को अपना कारोबार बढ़ाने और बचत की आदत डालने के टिप्स दिए।

.



Source link