दिल्ली से बेंगलुरु जा रही इंडिगो के फ्लाइट में इंजन ने आग पकड़ ली जिसके बाद प्लेन को दिल्ली एयरपोर्ट पर ही रोकना पड़ा

0
0


नई दिल्ली : दिल्ली से बेंगलुरु जा रही इंडिगो की फ्लाइट (IndiGo Delhi-Bengaluru fight) के इंजन में आग की खबर सामने आई है। विमान में बैठे यात्रियों में उस समय हडकंप मच गया, जब उन्होंने खिड़की से इंजन में लगी आग को देखा। विमान के उड़ान भरते समय ही यह घटना सामने आई। इस कारण विमान को दिल्ली एयरपोर्ट पर ही रोक दिया गया। विमान उड़ान नहीं पर सका। सामाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, दिल्ली से बेंगलुरु जा रही इंडिगो की फ्लाइट (6E-2131) में यह हादसा हुआ है।

सभी यात्री और क्रू मेंबर्स सेफ
घटना को लेकर इंडिगो एयरलाइन की तरफ से बयान जारी किया गया। इसमें बताया गया कि दिल्ली से बैंगलोर के लिए उड़ान भरने वाले विमान 6E2131 को टेक ऑफ रोल के दौरान एक तकनीकी समस्या का सामना करना पड़ा। इसके तुरंत बाद पायलट ने टेक ऑफ को रोक दिया। विमान अपने बे में लौट आया। एयरलाइन ने कहा कि सभी यात्री और क्रू मेंबर्स सेफ हैं। एयरलाइन ने बताया कि फ्लाइट ऑपरेशन के लिए एक वैकल्पिक विमान की व्यवस्था की जा रही है। यात्रियों को हुई असुविधा के लिए हमें खेद है।

पिछले कुछ समय से बढ़ीं फ्लाइट्स में गड़बड़ी की घटनाएं

पिछले कुछ महीनों से कई फ्लाइट्स में गड़बड़ियों की खबरें आ चुकी हैं। कई की इमरजेंसी लैंडिंग करना पड़ी। गड़बड़ी के सबसे ज्यादा मामले स्पाइसजेट की फ्लाइट्स में सामने आए। इंडिगो और एयर इंडिया के विमानों में भी तकनीकी खामिया देखने को मिली हैं। ताजा मामले में इंडिगो की फ्लाइट में चिंगारी किस वजह से उठी, यह अभी सामने नहीं आ पाया है।

Bird Strike: 1900 फीट की ऊंचाई पर पक्षी से टकराया Akasa Air का विमान, दिल्ली में हुई लैंडिंग, बड़ा हादसा टला

अकासा एयर के विमान से टकराया था पक्षी
इससे एक दिन पहले ही आकासा एयर के एक विमान के साथ दुर्घटना हुई थी। अहमदाबाद से दिल्ली जा रहे अकासा एयर के एक विमान से गुरुवार को पक्षी टकरा गया था। हालांकि, इसके बावजूद विमान सुरक्षित तरीके से दिल्ली में उतारा गया। एयरलाइन ने बताया कि बोइंग 737 मैक्स विमान सुरक्षित उतर गया और विमान के आगमन पर सभी यात्रियों को उतार लिया गया।

स्पाइसजेट के आधे विमानों पर लगी थी रोक
जुलाई में डीजीसीए (DGCA) ने स्पाइसजेट के आधे विमानों पर रोक लगा दी थी। स्पाइसजेट के विमानों में तकनीकी गड़बड़ी के कई मामले सामने आने के बाद यह कार्रवाई की गई थी। उस समय स्पाइसजेट के विमानों में 18 दिन के अंदर गड़बड़ी के करीब आठ मामले सामने आए थे। इसके बाद डीजीसीए ने 6 जुलाई को उसे कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

.



Source link