कुड़मी को आदिवासी बनाने की मांग के विरोध में आदिवासी संगठन का प्रदर्शन, मुख्यमंत्री और विधायक का पुतला फूंका | Tribal organization protested against the demand to make Kudmi a tribal, burnt the effigy of the Chief Minister

0
0


पूर्वी सिंहभूम14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कुड़मी- आदिवासी आंदोलन

पूर्वी सिंहभूम के चाईबासा में कुड़मी- महतो के द्वारा आदिवासी बनने की मांग के विरोध में चाईबासा में आदिवासी समुदाय के लोगों द्वारा कोल्हान आदिवासी एकता मंच के बैनर तले विशाल जनाक्रोश बाइक रैली निकाली गई।रैली टाटा कॉलेज मैदान से निकाली गई। बाइक रैली टाटा कॉलेज मैदान से शुरू होकर मुख्य मार्ग से होते हुए ताबो चौक, बस स्टैंड, सुप्पलसई साई चौक, एसपीजी स्कूल होते हुए आदिवासी हो समाज महासभा परिसर पहुंची । ।रैली के दौरान बिरसा भगवान तथा अन्य शहीदों की प्रतिमा सहित शहीद स्मारक पर करीब 12 से अधिक जगहों पर माल्यार्पण कार्यक्रम भी किया गया।

आदिवासी संगठन ने फूंका सीएम का पुतला

पोस्ट ऑफिस चौक पर मंच के नेताओं ने राज्य सरकार और विधायकों की चुप्पी पर नाराजगी जाहिर करते नारेबाजी भी की। मुख्यमंत्री और कोल्हान प्रमंडल के सभी विधायकों का पुतला दहन कर रोष प्रकट किया। कार्यक्रम का समापन आदिवासी हो समाज महासभा परिसर में आगंतुक व सभी आदिवासी समुदाय को बताया गया कि सरकार के रणनीति क्या है ? आदिवासी समुदाय के युवा बाइकों पर सवार होकर नारेबाजी कर रहे थे।

कुड़मी आदिवासी आमने-सामने
आदिवासी समाज के कई संगठन कुड़मी – महतो आंदोलन का विरोध करते रहे हैं। आदिवासियों ने रांची के मोरहाबादी मैदान में भी इसे लेकर विरोध प्रदर्शन हुआ था साथ ही राज्य के कई जिलों में भी इसे लेकर आदिवासी समाज विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। आदिवासी समाज के लोगों का कहना है कि कुड़मी और महतो को आदिवासी का दर्जा नहीं दिया जा सकता है। दूसरी तरफ कुड़मी लंबे समय से खुद को आदिवासी समाज का हिस्सा मानते हैं, कुड़मी और महतो समाज के लोग इसे लेकर लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

.



Source link