इंग्लैंड के 144 साल पुराने इतिहास पर लगा कलंक, पहली बार 0 पर लौटे दोनों ओपनर्स

0
9


लंदनलॉर्ड्स में भारत-इंग्लैंड के बीच दूसरे टेस्ट मैच में कई रेकॉर्ड्स बने। शमी-बुमराह ने नौवें विकेट के लिए ऐतिहासिक साझेदारी की। फिर दोनों ही खिलाड़ियों ने गेंद से भी कमाल कर दिया। अपनी रफ्तार से विरोधी ओपनर्स को ऐसा फंसाया कि इंग्लैंड क्रिकेट इतिहास के माथे पर कलंक लग गया।

पहली बार बिना खाता खोले आउट हुए ओपनर्सभारत ने पांचवें और आखिरी दिन इंग्लैंड के सामने 272 रन का लक्ष्य रखा था। ऐसे में इंग्लिश टीम को दमदार शुरुआत की जरूरत थी, लेकिन दोनों ओपनर्स तो बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए। अपनी सरजमीं पर यह पहला मौका था जब अंग्रेजी सलामी बल्लेबाज एक पारी में शून्य के स्कोर पर आउट हुए।


जसप्रीत बुमराह-मोहम्मद शमी का कमाल

पारी के पहले ओवर में रोरी बर्न्स को बुमराह ने आउट किया। अगले ओवर में मोहम्मद शमी ने भी जलवे बिखेरे, उन्होंने डॉम सिबली को विकेट के पीछे पंत के हाथों लपकवाया। ओवरऑल रेकॉर्ड की बात करें तो यह छठा मौका है जब इंग्लैंड के ओपनर टेस्ट मैच की एक पारी में बिना खाता खोले आउट हुए हैं। आखिरी बार 2005-06 में इंग्लैंड के पाकिस्तान दौरे पर ऐसा हुआ था।

बुमराह और शमी ने कराई मैच में वापसी
भारत ने सुबह छह विकेट पर 181 रन से आगे खेलना शुरू किया तथा शमी और बुमराह के करिश्माई प्रदर्शन से पहले सत्र में दो विकेट गंवाकर 105 रन जोड़े। इससे इंग्लैंड की मुश्किलें बढ़ गई जो सुबह पंत (46 गेंदों पर 22 रन) और ईशांत (24 गेंदों पर 16 रन) को जल्दी आउट करने के बाद बेहतर स्थिति में दिख रहा था। भारतीय टीम एक समय आठ विकेट पर 209 रन बनाकर 200 रन की बढ़त हासिल करने की स्थिति में भी नहीं दिख रही थी। शमी और बुमराह ने जबरदस्त बल्लेबाजी की। शमी ने अपने टेस्ट करियर का दूसरा अर्धशतक पूरा किया। बुमराह ने भी अपने करियर का सर्वोच्च स्कोर नाबाद 34 रन बनाया।

.



Source link